UTU semester

उत्तराखंड टेक्निकल यूनिवर्सिटी (UTU) की सेमेस्टर परीक्षाएं गुरूवार से शुरू हो गई है। इस मौके पर कुलपति प्रोफेसर ओमकार सिंह ने खुद परीक्षा संचालन की चाकचौबंद व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान पहली बार डिजिटल माध्यम से परीक्षा केन्द्रों को प्रश्न पत्र भेजे गये।

UTU semester exam started from 12 Jan 2022

वीर माधो सिंह भण्डारी उत्तराखण्ड प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (UTU) की सेमेस्टर परीक्षाएं गुरूवार दिनांक 12 जनवरी, 2023 से हुई प्रारम्भ गुरूवार से लॉ पाठयक्रम की विषम सेमेस्टर परीक्षाएं विभिन्न परीक्षा केन्द्रों पर सफलतापूर्वक सम्पादित हुई। वहीं बी0टेक०, फार्मेसी, मैनेजमेंट व होटल मैनेजमेंट की सेमेस्टर परीक्षाएं 16 दिसम्बर, 2023 से प्रारम्भ होनी सुनिश्चित हुई है।

VC utu uttarakhand

कुलपति प्रो० ओंकार सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय ने पहली बार डिजिटल माध्यम से इनक्रिप्टेड रूप में प्रश्न पत्रों को गोपनीयता को ध्यान में रखते हुए निर्धारित परीक्षा केन्द्रों तक समय पर सफलतापूर्वक ऑनलाइन पहुंचाने का कार्य किया है। साथ ही परीक्षार्थियों की ऑनलाईन उपस्थिति का रिकार्ड भी परीक्षा केन्द्रों से विश्वविद्यालय को प्रेषित किये जाने की सुविधा के संबंध में भी कुलपति द्वारा जानकारी ली गयी जो कि विश्वविद्यलाय को प्राप्त हो रही है।

utu exam

शैक्षणिक गुणवत्ता को और अधिक सशक्त बनाने के दृष्टिगत नकल विहीन परीक्षा संचालन हो इसको परखने के लिए कुलपति द्वारा आज सुबह की पाली में सम्बद्ध विधि संस्थान “जागरण स्कूल ऑफ लॉ” व द्वितीय पाली में हरिद्वार रोड़ स्थित जगन्नाथ विश्व लॉ कालेज परीक्षा केन्द्र पर जा कर स्वयं परीक्षा संचालन की गतिविधियों का स्थलीय निरीक्षण भी किया गया ताकि ईमानदारी एवं पारदर्शिता के साथ नकल विहीन परीक्षाओं का संचालन सम्पादन हो सके। इस दौरान कुलपति द्वारा परीक्षा केन्द्र अध्यक्षकों, पर्यवेक्षकों एवं कक्ष निरीक्षकों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि परीक्षाओं के संचालन व सम्पादन में किसी भी स्तर पर लापरवाही स्वीकार्य नहीं होगी।

IMG 20230112 WA0026

केन्द्रों पर उन्होंने परीक्षाओं के सफल संचालन एवं सम्पादन हेतु आवश्यक व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुए कहा कि परीक्षा के दौरान परीक्षा कक्षों का केन्द्र अध्यक्ष व पर्यवेक्षकों द्वारा तत्परता से निरीक्षण किया जाय ताकि किसी भी तरह की गड़बड़ी अथवा लापरवाही किसी भी स्तर पर न हो पाये। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा नियुक्त केन्द्र अध्यक्ष, पर्यवेक्षक व कक्ष निरीक्षक पूर्ण से पारदर्शिता के साथ नकल विहीन परीक्षाएं कराये जाने को उत्तरदायी हैं।

 

Also Check